Press Note – Dehradun 12 September 2016


September 13, 2016 Facebook Twitter LinkedIn Google+ News - Information Department, Uttarakhand


वाल्मिकी बस्ती, कांवली रोड़ में मुख्यमंत्री हरीश रावत के निर्देश पर राज्य पुलिस द्वारा सफाई अभियान आयोजित किया गया।

सोमवार को वाल्मिकी बस्ती, कांवली रोड़ में मुख्यमंत्री हरीश रावत के निर्देश पर राज्य पुलिस द्वारा सफाई अभियान आयोजित किया गया। मुख्यमंत्री श्री रावत ने इसमें शिरकत करते हुए पूरे दो घंटे तक वाल्मिकी बस्ती में खुद भी सफाई की। उन्होंने कचरे से चोक नालियों को पानी व छोटे फावड़े आदि से साफ किया। बस्ती के लोग हैरान थे सूबे के मुखिया को पूरी गंदी गलियों व नालियों को तन्मयता से साफ करते हुए देखकर। मुख्यमंत्री को सफाई में जुटा देखकर बस्ती के बहुत से लोग भी अपनी बस्ती की सफाई में लग गए। मुख्यमंत्री श्री रावत ने चोक नालियों को खुलवाया और उनमें केरोसीन का छिड़काव किया। देहरादून में डेंगू की स्थिति पर मुख्यमंत्री श्री रावत स्वयं नजर बनाए रखे हुए है। वे संबंधित विभागों के साथ इसकी अनेक बार समीक्षा कर चुके है। फागिंग आदि करने के लिए आवश्यक धनराशि स्वीकृत करने के साथ ही अन्य उपकरण भी संबंधित एजेंसियों को उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। दून अस्पताल में मरीजों के लिए बेड की संख्या भी बढ़ाई गई है। फागिंग की बहुत सी मशीनें क्रय भी कर ली गई हैं। और जगहजगह मच्छरों को मारने के लिए फागिंग की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने डेंगू को रोकने के लिए विभिन्न विभागों व एजेंसियों में समन्वय करने व लोगों में डेंगू से बचने के लिए जागरूकता अभियान के निर्देश दिए हैं। इसी क्रम में आज सोमवार को वाल्मिकी बस्ती में राज्य पुलिस द्वारा मुख्यमंत्री श्री रावत की सक्रिय उपस्थिति में सफाई अभियान संचालित किया गया। मुख्यमंत्री ने राज्य पुलिस की डेंगू जागरूकता रैली को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पुलिस के जवानों के साथ ही मुख्यमंत्री ने खुद भी सुबह आठ बजे से दस बजे तक वाल्मिकी बस्ती में गलियों व नालियों में से गंदगी साफ की। मुख्यमंत्री ने बस्ती के लोगों से बात भी की और उन्हें अपने घरों व आसपास खुद भी सफाई रखने के लिए प्रेरित किया। मुख्यमंत्री ने लोगांे को कहा कि घरों में कचरा एकत्र न होने दें और पानी इकट्ठा न होने दें। उन्होंने स्वयं कई घरों में जाकर पानी की टंकियों का जायजा लिया और खुली पड़ी बहुत सी टंकियों को ढ़कवाया। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि हमारी अपनी लापरवाही से भी नालियां मच्छरों की ब्रीडिंग फार्म बन जाती हैं। नालियों की नियमित रूप से सफाई रखें और रूके पड़े पानी में केरोसीन का छिड़काव करें तो डेंगू जैसी बीमारियों से बहुत हद तक बचा जा सकता है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने बस्ती के लोगों को कहा कि वे अपने बच्चों को फुल स्लीव के कपड़े पहनाकर रखें। बाद में वहां मौजूद मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि अब प्रत्येक सप्ताह शहर के किसी न किसी क्षेत्र में सफाई अभियान चलाया जाएगा। ‘‘मुझे उम्मीद है कि मेरे द्वारा नालियों की सफाई करने से लोग भी अपने घरों व आसपास की सफाई करने के लिए पे्ररित होंगे। यह हम सभी का मिलाजुला अभियान है। अगर हम एकजुट होकर सफाई में लग जाएं तो डेंगू जैसी बीमारियों को रोका जा सकता है। राज्य सरकार भी डेंगू की रोकथाम के लिए हरसम्भव प्रयास कर रही है। हमें दूसरों पर दोषारोपण करने की बजाय खुद जुटना होगा।’’ मुख्यमंत्री श्री रावत ने सफाई अभियान के लिए पुलिस का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सभी लोग इसमें सम्मिलित हों। इसके लिए सेल्फ मोटीवेशन जरूरी है।

 

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने ईदउलजुहा के अवसर पर मुस्लिम भाईयों व बहनों सहित सभी प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने ईदउलजुहा के अवसर पर मुस्लिम भाईयों व बहनों सहित सभी प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री श्री रावत ने ईदउलजुहा की पूर्व संध्या पर जारी अपने संदेश में कहा कि ईदउलजुहा त्याग और ईश्वर के प्रति समर्पण का प्रतीक है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि ईद का यह त्यौंहार प्रदेशवासियों के जीवन में खुशहाली और समृद्धि लाएगा।

 

उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के नवनियुक्त उपाध्यक्ष हेमंत पांडेय ने सोमवार को मुख्यमंत्री हरीश रावत से बीजापुर हाउस में भेंट की।

उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के नवनियुक्त उपाध्यक्ष हेमंत पांडेय ने सोमवार को मुख्यमंत्री हरीश रावत से बीजापुर हाउस में भेंट की। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि परिषद के उद्देश्यों व फिल्म पाॅलिसी का परिषद द्वारा और बेहतर ढंग से क्रियान्वयन किया जाए। श्री पांडेय ने उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद में उपाध्यक्ष व सदस्य नामित करने पर मुख्यमंत्री श्री रावत का आभार व्यक्त किया। श्री पांडेय ने कहा कि परिषद के गठन से प्रदेश में फिल्म निर्माण के क्षेत्र में गति आयेगी। उन्होंने आश्वस्त किया कि उनका प्रयास होगा कि देश विदेश में उत्तराखण्ड की क्षवि को और बेहतर ढंग से प्रस्तुत किया जा सकें। उन्होंने मुख्यमंत्री से परिषद की बैठक आयोजित करने का भी आग्रह किया।

 

उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के नवनियुक्त उपाध्यक्ष एवं प्रसिद्ध अभिनेता हेमंत पांडेय ने सोमवार को सचिवालय में सचिव, सूचना/मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद विनोद शर्मा से सचिवालय स्थित उनके कक्ष में भेंट की।

उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के नवनियुक्त उपाध्यक्ष एवं प्रसिद्ध अभिनेता हेमंत पांडेय ने सोमवार को सचिवालय में सचिव, सूचना/मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद विनोद शर्मा से सचिवालय स्थित उनके कक्ष में भेंट की। इस दौरान सचिव सूचना/मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री शर्मा को फिल्मी नीति 2015 के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। साथ ही अवगत कराया गया कि परिषद द्वारा सिंगल विंडो सिस्टम के माध्यम से फिल्मो की शूटिंग हेतु अनुमति प्रदान की जा रही है। सितम्बर, 2015 से वर्तमान समय तक लगभग 30 से अधिक फिल्मों को शूटिंग हेतु अनुमति दी गई है, जिनसे शूटिंग के रूप में लगभग 7 लाख रुपये की धनराशि प्राप्त हुई है। श्री शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार का प्रयास है कि यहां पर फिल्म निर्माण हेतु आने वाले निर्माताओं को हर संभव सुविधाएं उपलब्ध करायी जाय। उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के उपाध्यक्ष श्री हेमंत पाण्डेय ने कहा कि प्रदेश की फिल्म नीति काफी आकर्षक है। परिषद के अन्य सदस्यांे के साथ चर्चा कर इसे और अधिक आकर्षक बनाया जायेगा। श्री पाण्डेय ने कहा कि अन्य प्रदेशों की फिल्म नीति का भी अध्ययन किया जाय, ताकि उसके अनुसार प्रदेश की फिल्म नीति में आवश्यक संशोधन किया जा सके। श्री पाण्डेय ने कहा कि परिषद के कार्य को और अधिक गति प्रदान की जाय। प्रदेश के रमणीक स्थलों व शूटिंग हेतु उपयुक्त स्थलों की एक डायरेक्टरी भी तैयार की जाय। प्रदेश के बाहर से यहां शूटिंग करने आने वाले फिल्म निर्माताओं को बेहतर सुविधाएं प्रदान की जाय। स्थानीय फिल्म निर्माताओं व कलाकारों के हितो का भी पूरा ध्यान रखा जाय। सचिव, सूचना/मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद श्री शर्मा ने कहा कि परिषद की बैठक का आयोजन 14 सितम्बर, 2016 को किया जा रहा है। साथ ही प्राप्त सुझावों पर भी शीध्र कार्यवाही की जायेगी।

सोमवार को मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सचिवालय में हाईवे प्रोजेक्ट्स के संबंध में बैठक ली।

सोमवार को मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सचिवालय में हाईवे प्रोजेक्ट्स के संबंध में बैठक ली। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य में राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण जल्द से जल्द हो, इसके लिये आवश्यक है कि हम सब आपसी समन्वय से काम करें। राज्य सरकार इसके लिये पूरा सहयोग करेगी। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि जहांजहां बिजली के खम्बो को शिफ्ट करने की आवश्यकता है, वहा क्षेत्रवासियों की सहमति से ही उन्हें शिफ्ट किया जाए। यदि शट डाउन लेने की जरूरत पड़ती है तो कम से कम समय के लिये शट डाउन लिया जाए। साथ ही आम जनता को इसके लिये पहले से अवगत करा दिया जाए। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि जहांजहां भूमि संबंधित विवाद है, उन्हें संबंधित विभाग व अधिकारी आपसी समन्वय बनाकर उनका निराकरण करें। उन्होंने कहा कि राज्य की सड़कों की स्थिति जल्द से जल्द सुधरे इसके लिये राज्य सरकार हर संभव प्रयास करेगी। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव एस.रामास्वामी, एरा इन्फ्रा प्राईवेट लिमिटेड के चैयरमेन हेम सिंह भड़ाना, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के उप महाप्रबंधक प्रदीप सिंह गुंसाई, जिलाधिकारी देहरादून रविनाथ रमन, जिलाधिकारी हरिद्वारा हरबंश सिंह चुघ, वन विभाग व लोक निर्माण विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

Comments